रीवा जिले का लाल दीपक सिंह भारत चीन सीमा विवाद में हुआ शहीद

रीवा जिले का लाल दीपक सिंह भारत चीन सीमा विवाद में हुआ शहीद

लद्दाख में भारत चीन सीमा विवाद में हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं और 15 जवान लापता बताए जा रहे हैं जिनमें से एक रीवा का लाल भी शामिल है| जवान की शहादत की खबर सेना के अधिकारियों के द्वारा शहीद के परिजनों को दे दी गई हैं|

रीवा के वीर जवान की शहादत की खबर जैसे ही रीवा तक पहुंची पूरा जिला गमगीन हो गया| जिले के देवरा फरीदा के रहने वाले दीपक सिंह 2013 में इंडियन आर्मी की बिहार रेजीमेंट की 16 बिहार रेजीमेंट में भर्ती हुए थे और इस समय सियाचिन ग्लेशियर में पोस्टेड थे| चाइना की कायराना हरकत की वजह से कल अपने साथियों के साथ दीपक सिंह जी देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए| दीपक की शादी 30 नवंबर 2019 को हुई थी और 14 फरवरी 2020 को छुट्टी काट कर अपने घर से गए थे| दीपक के चाचा ने बताया कि  13 दिन पहले उनसे आखरी बात हुई थी और कल रेजिमेंट से फोन आया कि दीपक देश के लिए शहीद हो गए हैं| तब से घर गांव में मातम पसरा हुआ है| दीपक के चचेरे भाई अमित सिंह ने बताया कि दीपक बहुत अच्छे थे और जब भी वह गांव आते थे गांव के हर व्यक्ति से सम्मान और प्रेम भावना से रहते थे| उनके जाने के बाद पूरा गांव शोक की लहर में है| इस दौरान शहीद के घर पूर्व लोकसभा प्रत्याशी सिद्धार्थ तिवारी राज भी पहुंचे उन्होंने वीर जवान दीपक सिंह की शहादत को नमन करते हुए सरकार से हर संभव मदद देने की अपील की है| दीपक की मां नहीं है दीपक के पिता गजेंद्र सिंह जो 55 साल के हैं वो काफी बीमार रहते हैं|