संजय गांधी अस्पताल को मिले दो और साइंटिस्ट, वायरस की जांच में आएगी और तेजी

संजय गांधी अस्पताल को मिले दो और साइंटिस्ट, वायरस की जांच में आएगी और तेजी

कोविड-19 से विंध्य क्षेत्र भी अछूता नहीं रहा। रीवा शहडोल के बाद अनूपपुर में भी कोरोना ने दस्तक दे दी। विंध्य क्षेत्र और रीवा को इस महामारी से बचाने के लिए एपीएस यूनिवर्सिटी से दो और साइंटिस्ट ने गुरुवार को मेडिकल कॉलेज में संचालित वायरोलॉजी लैब में जॉइनिंग दी है। इस जॉइनिंग के बाद माना जा रहा है कि कोविड-19 की जांच करने में और तेजी आएगी। प्रशासनिक अमला अधिक से अधिक जांच करने में तेजी लाने को प्रयासरत है| ऐसे में दो और साइंटिस्टों की जॉइनिंग कहीं ना कहीं सफलता हासिल करेगी । जानकारी के अनुसार वायरोलॉजी लैब में इसके पहले दो साइंटिस्ट 3 डॉक्टर और 15 टेक्निकल स्टाफ की उपलब्धता रही है। जॉइनिंग के बाद अब साइंटिस्टों की संख्या बढ़कर 4 हो गई है। इससे आने वाले सैंपल की जांच रिपोर्ट मिलने में काफी आसानी हो जाएगी। विंध्य क्षेत्र में कोरोनावायरस मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद अब सैंपल्स काफी तेजी से लिए जा रहे हैं। रीवा के साथ-साथ अन्य जिलों से आये  सैंपल की संख्या भी बढ़ रही है। जिससे मेडिकल कॉलेज में संचालित कोरोना टेस्टिंग लैब में सैंपल जांच का दबाव बढ़ गया है। माना जा रहा है कि सैंपल और उनकी जांच जितनी जल्दी प्राप्त होगी उतना ही इस वायरस के फैलाव पर अंकुश लगाया जा सकता है। कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए रीवा मेडिकल कॉलेज में संचालित वायरोलॉजी लैब में दो नए साइंटिस्ट ने जॉइनिंग दी है जिससे अब वायरस की जांच और जल्दी से हो सकती है।