भूख हड़ताल के लिए मजबूर बस यूनियन, सहायता राशि के लिए कलेक्टर को सौपा ज्ञापन 

भूख हड़ताल के लिए मजबूर बस यूनियन, सहायता राशि के लिए कलेक्टर को सौपा ज्ञापन 

रीवा जिले के प्राइवेट बस के ड्राईवर कंडक्टर एवं खलासी कोरोना संकट एवं लॉकडाउन की वजह से आर्थिक तंगी से झूझ रहे है, केंद्र सरकार के आदेशानुसार सभी प्रकार के पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर प्रतिबंध है अर्थिक तंगी से जूझ रहा ड्राईवर कंडक्टर यूनियन एवं प्राइवेट बस मालिको ने रीवा कलेक्ट्रेट पहुँच कर ज्ञापन दिया और शासन प्रशासन से मदद की गुहार लगाईं आपको बता दे की इस सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए प्रशासन ने सभी प्राइवेट बसों का संचलान बंद करा दिया था  जिसके चलते  प्राइवेट बस में काम कर रहे  ड्राईवर  , खलासी आर्थिक तंगी से परेशान हो रहे हैं और अब अब उनके परिवार के पालन पोषण के लिए कोई सुविधा भी नही हैं  , ऐसे में  इन लोगो ने अपने पालन पोषण के लिए जिला कलेक्टर को  सहायता राशि प्राधान करने हेतु ज्ञापन सौपा हैं उनका कहना हैं की  बस मालिको की तरफ से किसी भी तरह की कोई सहायता राशि  नही प्रदान की जा रही हैं  जिसके चलते हम भूक हड़ताल पर बैठने का कदम उठाने जा रहे हैं यदि प्रसासन उनकी मदद नही करेगा तो वे भूक हड़ताल पर बैठ जाएंगे तो वही देखने बाली बात ये हैं की बस मालिको की भी अपनी एक अलग समस्या हैं