मजदूरों की सुविधा के लिए दिए गए नंबर आ रहे बंद, प्रशासन पर उठ रहे सवाल

मजदूरों की सुविधा के लिए दिए गए नंबर आ रहे बंद, प्रशासन पर उठ रहे सवाल

प्रशासन द्वारा अन्य जगहों में फंसे प्रवासी मजदूरों को अपने जिलों में लाने के लिए व्यवस्था बनाई गई, लेकिन शासन प्रशासन की इस व्यवस्था पर सवाल खड़े होने लगे हैं। रीवा जिले में भी बाहर फंसे मजदूरों को लाने की कवायद प्रशासन द्वारा शुरू की गई है। इसी बीच आम आदमी पार्टी रीवा के जिला अध्यक्ष प्रमोद शर्मा द्वारा प्रशासन की व्यवस्था पर सवाल खड़े किए गए हैं। प्रमोद शर्मा का कहना है कि प्रशासन द्वारा दिए गए नंबर्स बंद आ रहे हैं| प्रभार पर बैठे अधिकारी फोन नहीं उठा रहे इसके साथ ही दिए गए व्हाट्सएप नंबर भी आधे घंटे के लिए ही चालू होते हैं इसके बाद वह नंबर भी बंद किए जाते हैं| जिसके कारण बाहर फंसे मजदूरों को सही समय पर सहायता नहीं मिल पा रही है। प्रमोद शर्मा द्वारा एक गूगल एप का भी जिक्र किया गया जिसके माध्यम से जनता को या बाहर फंसे मजदूरों को सारी जानकारी एक ही एप में मिल जाएगी और वह समय रहते सही तरीके से अपने घर पहुंच सकेंगे।