REWA: व्यापारी संघ ने राजेन्द्र शुक्ल को मंत्री नहीं बनाए जाने का किया विरोध

REWA: व्यापारी संघ ने राजेन्द्र शुक्ल को मंत्री नहीं बनाए जाने का किया विरोध

मध्य प्रदेश में सरकार बनने के 100 दिन बाद शिवराज सिंह चौहान ने अपनी कैबिनेट का विस्तार किया मंत्रिमंडल में ज्योतिराज सिंधिया की छाप जम कर दिखी। जिसकी वजह से ही शिवराज के करीबी कई पुराने मंत्रियों के पत्ते भी कट गए।  रीवा से भी पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला और वरिष्ठ विधायक गिरीश गौतम को नजरअंदाज किया गया। प्रदेश के अन्य जगहों की तरह क्षेत्रीय संतुलन ना होने की वजह से रीवा में भी राजेंद्र शुक्ल को मंत्री न बनाए जाने पर विरोध देखा जा रहा है। शहर के बीचो-बीच शिल्पी प्लाजा में आज व्यापारी  संघ के द्वारा शहर के साईं मंदिर के समक्ष रीवा विधायक राजेंद्र शुक्ल को मंत्री पद ना मिलने का विरोध किया गया। इस दौरान सभी पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी और काला मास्क पहनकर विरोध दर्ज करवाया। वहीं व्यापारी संघ के अध्यक्ष नरेश काली ने बताया कि हमारे लिए मध्यप्रदेश में दुर्भाग्य का दिन है। रीवा की आठो सीट भारतीय जनता पार्टी की होने के बावजूद रीवा से एक भी मंत्री नहीं बनाया गया व्यापारियों ने कहा कि रीवा विधायक एवं पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ल को भी मंत्री पद नहीं दिया गया इससे बड़ा दुर्भाग्य कुछ और हो ही नहीं सकता व्यापारी संघ ने चेतावनी दी है कि अगर इसी तरह प्रदेश में चलता रहा तो व्यापारी भाजपा संगठन से अलग हो जाएंगे|