त्योंथर के जनेह थाना क्षेत्र में ग्रामीण बने लाइनमैन, 15 दिन से बिजली ना होने के कारण खुद बनाई बिजली

त्योंथर के जनेह थाना क्षेत्र में ग्रामीण बने लाइनमैन, 15 दिन से बिजली ना होने के कारण खुद बनाई बिजली

त्यौंथर के जनेह थाना क्षेत्र अंतर्गत फूलदेउर गांव से बिजली विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है जहां पर ग्रामीणों की शिकायत के बावजूद 15 दिनों तक विभाग के अमले ने बिजली बहाल नहीं की जिसके बाद ग्रामीणों को खुद से बिजली के खंबे में चढ़कर बिजली बनानी पड़ गई जिसके लिए ग्रामीणों ने अपने पैसे से 11 केवी का तार भी खरीदा|

त्यौंथर कस्बे के जनेह थाना क्षेत्र अंतर्गत फूलदेउर गाँव में बिजली विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है जहां पर विभाग की लापरवाही के चलते ग्रामीण लाइनमैन बने दिखाई दिए।  फूलदेउर गांव में 15 दिनों पूर्व 11 केवी का तार खंभे से टूट कर गिर गया| जिसके बाद बिजली की समस्या से ग्रामीणों को तरबतर होना पड़ा और बिजली न होने की शिकायत उन्होंने कई बार विभागीय अमले से की परंतु विभाग के द्वारा उनकी समस्या का निराकरण नहीं किया गया तथा टूटी हुई तार को निकालने के लिए भी विभाग ने किसी भी प्रकार की सक्रियता नहीं दिखाई जिससे बड़ी जनहानि होने का भी खतरा था और बाद में टूटी हुई उस तार को चोर चुरा ले गए जिसके बाद बिजली की समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों को खुद से बिजली बनाने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं दिखा और अपने से चंदा एकत्रित कर ग्रामीणों ने 11 केवी का तार खरीदा और बिजली बनाने के लिए खंबे पर चढ़ गए| बिजली बनाने के बाद व कायदे गांव के एक युवक ने अपने फेसबुक पर अपनी वाहवाही लूटने के लिए 11 केवी के तार को जोड़ने की पोस्ट डाल दी और बिजली विभाग का अमला सक्रिय हुआ| मामले को लेकर विद्युत विभाग के अधिकारियों का कहना है कि शरारती तत्वों के द्वारा तार को तोड़ा गया और बाद में खुद से ही वह बनाने लगे जिसकी जांच की जा रही है| इस पूरे मामले पर क्षेत्र के भाजपा विधायक श्यामलाल द्विवेदी ने बिजली विभाग की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए कार्यवाही की मांग की है| विधायक ने कहा है कि किसानों की समस्याओं को देखते हुए भी बिजली विभाग लापरवाही करता जा रहा है जो कि निंदनीय है|