गरीब परिवार की छीनी गई अजीविका

गरीब परिवार की छीनी गई अजीविका

जब सत्ता में काबिज सरकार की धौंस उन  गरीब परिवारों तक पहुंच जाए तो सरकार पर सवाल खड़े होना लाजिमी है यह आरोप हम नही बल्कि अाम जनता लगा रही है एक तरफ सरकार के द्वारा सरकारी जमीन  पर कब्जा किए  गरीबों को जमीन का पट्टा दिए जाने की बात कही जाती है इतना ही नहीं प्रदेश में होने वाले उपचुनावों पर  भी यही मुद्दा  सामने आता है लेकिन उसका लाभ  गरीब परिवारों को मिलता नजर नहीं आ रहा है आम जनता का आरोप है कि सरकार के ही सांसद और विधायकों का दबाव जब अधिकारियों तक पहुंच जाता है तो सरकार के द्वारा बनाए गए नियमों पर लीपापोती हो जाती है  अमूमन ग्राम पंचायत के सरकारी जमीन पर विगत 25 वर्षों से गरीब परिवार का कब्जा है लेकिन अधिकारियों के द्वारा न्यायालय का आदेश दिखाकर केवल एक ही परिवार के घर को गिरा दिया गया लेकिन जो सवाल उठता है वह यह है कि क्या सैकड़ों लोगों को बेघर कर दिया जाएगा या  केवल एक ही व्यक्ति का घर गिराया गया  अगर सैकड़ों लोगों के आशियाने को उजाडा जाएगा तो शासन प्रशासन के द्वारा  दूसरा विकल्प क्या होगा यह एक चिंता का विषय है  यह पूरा मीमाला है रीवा जिले के  रहट ग्राम पंचायत  अंतर्गत आराजी नंबर 1374 एवं 965 शासकीय जमीन का जिसमे करीब सैकड़ों लोगों का विगत 25 वर्षों से कब्जा है जिनकी रोजी-रोटी भी उसी जमीन से चलती है लेकिन उन गरीब परिवारों में जब केवल एक ही गरीब परिवार का बनता हुआ आशियाना उजाडा गया तो उस परिवार को कहीं न कहीं वेदना जरूर होती है इन सभी विषयों का  साछय जानने जब हमारी टीम ग्राम पंचायत रहठ पहुंची शासकीय जमीनों में  करीब सैकड़ों लोगों के काबिज होने की बात सामने आई  दुखी परिवार ने अपनी  आपबीती सुनाते हुए कहा है कि स्थानीय सांसद और विधायक के दबाव में आकर अधिकारियों के द्वारा यह  घर गिराने का कार्य किया गया है  आपको बता दें कि जब इस संबंध में एसडीएम फरहीन खान से बातचीत की गई तो तो उनके द्वारा बताया गया कि उनका प्रकरण न्यायालय में चल रहा था जिसके आदेशनुसार यह कार्यवाही की गई है लेकिन जो सवाल खड़ा हो रहा वह यह है कि जो और भी सैकड़ों लोग हैं क्या  उनका भी  घर गिराया जाएगा  या केवल एक ही  व्यक्ति पर कार्यवाही की गई जरा गौर से देखिए इस वीडियो को जिसमें यह तस्वीरें दिख रही है वह  गांव के ही लोगों के द्वारा किए गए अवैध अतिक्रमण की है लेकिन अधिकारियों की नजर  दूसरी ओर किए गए अवैध अतिक्रमण पर  गई ही नहीं  और एक गरीब परिवार  को घर से बेदखल कर दिया गया  जानकारी देते हुए सरपंच ने बताया  जो गरीब परिवार का घर गिराया गया उसमें राजनीतिक लोगों की मिलीभगत है जिससे इस कार्य को अंजाम दिया गया  लेकिन यह देखना महत्वपूर्ण होगा कि कब तक रहट ग्राम पंचायत में किए गए अवैध अतिक्रमण को हटाने प्रशासनिक अमला वहां पहुंचता है