जिले में बुलंद हो रहे अपराधियों के हौसले

जिले में बुलंद हो रहे अपराधियों के हौसले

इन दिनों जिले में बुलंद हो रहे अपराधियों के हौसलो ने पुलिस को भी परास्त कर दिया है  हर दिन लूट चोरी दुष्कर्म एंव हत्या जैसी घटनाएं सामने आ रही है बता दें कि जिले में 1 सप्ताह के भीतर  लगभग एक दर्जन से अधिक एसी घटनाएं सामने आ चुकी हैं जो मानव जाति को  शर्मसार कर देने वाली है  लेकिन जो सवाल उठता है कि क्या पुलिस और पुलिस थाने औचित्यहीन हो गये हैं या सिर्फ एफ आई आर दर्ज करने वाली संस्था बनकर रह गए अमूमन जिस तरह से जिले में अपराधियों का बोलबाला है उससे कही न कहीं समाज मे भय का माहौल निर्मित हो रहा है लेकिन इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकारी व्यवस्थाएं शिथिल पड़ गई है जनप्रतिनिधियों को सरकार बनाने और गिराने की चिंता रह गई है कयोंकि कहीं समाज के लोगों को गाड़ियों से कुचला जा रहा है तो कहीं नाबालिक युवती के साथ दुष्कर्म जैसे घिनौने वारदात को अंजाम दिया जा रहा है शासन प्रशासन से सवाल है कि  आखिर कब तक इस तरह की घटनाएं घटित होती रहेंगी अपराधियों को कब सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा और दुष्कर्म जैसी वारदात को अंजाम देने वाले अपराधियों को कड़े कानून का प्रावधान कब किया जाएगा  या ऐसे ही घटनाएं घटित होती रहेंगे  सवाल पूछना इस लिये जरूरी हो गया है कि जिले मे अपराधों की बाढ आ गयी है