अंधभक्त ने लगाई माता के दरबार में गला काट कर न्याय की गुहार

अंधभक्त ने लगाई माता के दरबार में गला काट कर न्याय की गुहार

एक ओर जहां भक्तों के द्वारा नवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर अंधभक्त के द्वारा मंदिर पर जाकर आत्महत्या करने को लेकर खबर सामने आ रही हैं ताजा मामला सामने आया है सतना जिले के शारदा माता मंदिर मैहर से जहां एक अंध भक्तं ने माता को प्रसन्न करने के लिए अपना ही गला काट लिया मौके पर मौजूद पुलिस ने जब बचाव करने की कोशिश की तो आत्मघाती कदम उठाने वाला यह शख्स चिल्लाता रहा मुझे न्याय चाहिए इस दुनिया में न्याय नहीं रहा इस घटना के बाद यह स्पष्ट हो गया कि ईश्वर में श्रद्धा के साथ साथ अंधश्रद्धा भी मौजूद है लेकिन एक ऐसी भक्ति भी सामने आई जहां एक 50 वर्षीय शख्स ने माता के दरबार में पहुंचकर खुद का गला काट लिया जिससे आसपास मौजूद भक्तों में भी सनाका खिच गया अभी तक अापने सुना होगा की अमूमन मां शारदा के दरबार में अब तक भक्त मन्नत पूरी कराने जीभ चढ़ाते रहें हैं खासकर नवरात्रि के दौरान 1से 2 भक्त जीभ चढ़ा ही देते थे लेकिन इस मर्तबा 1 श्रद्धालुओं ने मां के दरबार में अपना गला ही काटने की कोशिश की  दूर-दूर से श्रद्धालु मां शारदा माता के दर्शन करने सुबह से ही मैहर पहुंच रहे थे और भक्तों का तांता लगा हुआ था उसी दौरान जब शख्स के गला काटने की खबर फैली तो भक्त भी  आश्चर्य चकित रह गए