जन अस्मिता यात्रा मे गरजे पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी कोई भी सरकार नही है किसान हितैषी सरकार

जन अस्मिता यात्रा मे गरजे पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी   कोई भी सरकार नही है किसान हितैषी सरकार

मध्यप्रदेश से अलग विन्ध्य प्रदेश की मांग हमेशा उठती रही है लेकिन इस विन्ध्य प्रदेश को अलग राज्य बनाने का बीडा रीवा के तेजतर्रार जुझारू नेता पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी ने पहले से ही उठाया है|पूर्व विधायक की जन अस्मिता यात्रा पूरे विन्ध्य प्रदेश के कोने कोने मे जा रही है लोगों के मन में एक बार फिर पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी ने विन्ध्य प्रदेश को अलग राज्य बनाने का नया जज्बा भर दिया है| विन्ध्य की जनता को एक बार फिर नई आशा नजर लक्ष्मण तिवारी के रूप में दिखाई दे रही है इस कडी पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी ने सिरमौर विधानसभा के रामबाग चौराहे पर जन अस्मिता की जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज आवारा पशुओं का दंश समूचा रीवा के साथ साथ तराई अंचल भी झेल रहा है उन्होंने कहा कि कोई सरकार आये किसानों का भला नही होने वाला है रीवा जिले ने आठ विधायक एक सासंद व राज्यसभा सांसद विधानसभा व लोकसभा राज्यसभा में भेजा है इसके बाद भी रीवा जिले मे एक भी किसान मजदूर गरीब के हितकर कार्य नही हुये नेता केवल अपनी झोली भरने मे लगे हुये हैं गरीब जनता का केवल सरकार शोषण करने का कार्य कर रही है यह सरकार केवल गरीबों को अपंग बनाने का कार्य कर रही है उन्होंने कहा कि हमारी कुछ मांगे है जिनमें प्रमुख रूप से रीवा जिले में गोबर प्लान्ट की स्थापना की जाय जिससे बेरोजगारी भी दूर होगी गोबर बिकने से लोग अपने पशुओं की देखभाल भी करेगे गोबर से जैविक खाद बनेगी जो किसानों के खेतों को उपजाऊ बनायेगी इस गोबर से अगरबत्ती डिस्टेम्पर फाईल आदि तैयार होगी आवारा पशुओ का आतंक समाप्त हो जायेंगा किसानों की खेती भी बचने लगेगी मध्यप्रदेश से अलग राज्य विन्ध्य प्रदेश बनाने की मांग पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी ने की है अलग राज्य बनाने से विन्ध्य प्रदेश का निश्चित विकास होगा इससे सभी जाति वर्ग के लोगों को लाभ मिलेगा उन्होने कहा कि अपने 30 वर्ष के राजनीतिक जीवन काल मे जनता का सच्चा सेवक बनकर सेवा की है और जब तक मेरे शरीर में प्राण रहेगा जनता के हित की लड़ाई लड़ता रहूंगा इस जनसभा में प्रमुख रूप से आयोजक पंकज उपाध्याय सभा का सफल संचालन श्रवण तिवारी ने किया सिद्धार्थ मिश्रा गजेन्द्र सिंह देवेश मिश्रा शंकर लाल गुप्ता मितेन्द्र सिंह अधिवक्ता मिथलेश साहू शिवभूषण मिश्रा धर्मराज सिंह अर्पण कोल संतोष कुशवाहा आदि बडी संख्या में लोग मौजूद रहे