जेपी प्रबंधन के खिलाफ मजदूर एकता यूनियन संघ का धरना कलेक्ट्रेट कार्यालय के सामने किया जा रहा भूख हड़ताल

जेपी प्रबंधन के खिलाफ मजदूर एकता यूनियन संघ का धरना कलेक्ट्रेट कार्यालय के सामने किया जा रहा भूख हड़ताल

आज एकता यूनियन (सीटू) के पदाधिकारियों के द्वारा कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर जेपी प्रबंधन के खिलाफ बड़ी संख्या में इकठ्ठा होकर  रोजगार छिनने , लॉकडाउन की अवधि का वेतन भुगतान न करने और यूनियन के नेतृत्व में भूख हड़ताल शुरू किया गया| उन्होंने जानकरी देते हुए बताया की कोरोना काल में अधिकंस्तः मजदूरों के रोजगार छिन गया लेकिन लॉकडाउन समाप्त कर अनलॉक के संबंध में केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा जारी दिसा निर्देशों का जेपी और अल्ट्राटेक प्रबंधन के द्वारा अवहेलना कर बड़ी संख्या में लोगों का रोजगार छीन लिया गया  उन्हें पुनः रोजगार नही दिया गया| ,सीमेंट मजदूर एकता यूनियन संघ के लोगो की मांग है लॉकडाउन अवधि से लेकर आज तक काम से बाहर श्रमिकों के समूचे वेतन का तुरंत भुगतान कराया जाय,  अनलॉक की प्रक्रिया में प्रबंधन द्वारा दमन की मानसिकता से जो भी स्थानांतरण , डिपार्टमेंट परिवर्तन आदि के आदेश जारी किए गए हैं उन्हें तुरंत निरस्त किया जाय, यूनियन के पदाधिकारियों सदस्यों को प्रबंधन द्वारा पूर्वाग्रह की मानसिकता से किए गए स्थानांतरण को ट्रिब्यूनल कोर्ट से निरस्त कर जेपी नगर रीवा में ही श्रमिकों को काम पर रखने का आदेश दिया जाय इसी तरह और भी कई मांगो को लेकर मजदूर संघ के पदाधिकारियों के द्वारा भूख हड़ताल की गई