घर पहुंचकर एफआईआर दर्ज करेंगी पुलिस, प्रदेश में शुरू हुई एफआईआर आपके द्वार योजना

घर पहुंचकर एफआईआर दर्ज करेंगी पुलिस, प्रदेश में शुरू हुई एफआईआर आपके द्वार योजना

 

मध्यप्रदेश में प्रदेश सरकार के आदेशानुसार पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत हो रही है जिसके तहत एफ आई आर के लिए अब थानों के चक्कर नहीं  काटने होंगे| पुलिस अब पीड़ित व्यक्ति के घर किया| इस योजना के तहत घटना की सूचना मिलने पर एफआईआरवी मौके पर पहुंचेगी और वहीं पर एफ आई आर दर्ज की जाएगी|  रीवा में भी शासन के निर्देश अनुसार गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के निर्देशानुसार रीवा आईजी चंचल शेखर ने इस योजना को हरी झंडी दिखा दी है| उन्होंने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा है कि इस योजना का उद्देश्य यह है कि जैसे ही कोई पीड़ित व्यक्ति चाहे वह मारपीट से पीड़ित हो उसके यहां चोरी हुई हो या किसी भी अत्याचार से प्रताड़ित हो तो उसके पास पहुंच कर पुलिस एफ आई आर दर्ज करेगी| पहले उन सभी पीड़ितों को एफ आई आर कराने के लिए थाने आना पड़ता था क्योंकि वही पर एफ आई आर. करने की व्यवस्था होती थी| थाने में कंप्यूटर के साथ साथ सभी प्रकार की व्यवस्था होती थी लेकिन अब वह सभी व्यवस्था पुलिस कर्मियों को दी जाएगी जिनमें से एक अधिकारी तुरंत घटनास्थल पर पहुंचकर या पीड़ित व्यक्ति के घर पहुंचकर एफ आईआरदर्ज करेगी | इस योजना की शुरुआत शहर के समान थाने में और ग्रामीण में मऊगंज थाने में कर दिया गया है|