प्रदेश में फेस मास्क होगा जरूरी, नहीं खुलेंगे कॉलेज

प्रदेश में फेस मास्क होगा जरूरी, नहीं खुलेंगे कॉलेज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को कोरोना संक्रमण को लेकर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की इस बैठक में फैसला लिया गया कि मध्यप्रदेश में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। जिन जिलों या शहरों में ज्यादा संक्रमण है जैसे भोपाल इंदौर ग्वालियर रतलाम और विदिशा इन सभी जगहों में आज से रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। सीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जिला कलेक्टर से चर्चा मैं निर्देश दिए हैं कि सभी जिलों में क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक बुलाकर कोरोना की स्थिति को लेकर सुझाव लिया जाए इसके अलावा हर जिले में हर शहर में हल कस्बे में मास्क के उपयोग को सख्ती से लागू करने की भी बात कही गई है फेस मास्क नहीं लगाने वालों पर जुर्माना किया जाएगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि विवाह समारोह और सांस्कृतिक गतिविधियां सीमित संख्या की भागीदारी में हूं और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जाए।बैठक में कोरोनावायरस के लिए जागरूकता के प्रयास निरंतर निरंतर चलाए जाने की बात कही गई जन जन तक यह संदेश पहुंचाने की कवायद लगातार जारी रहे ताकि हर कोई संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी एहतियात बरतें। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिन नगरों में कोरोना संक्रमण के अधिक मामले सामने आएंगे वहां रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू किया जा सकता है।इस बैठक में फैसला लिया गया है कि आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही करने वाले ट्रांसपोर्टर्स को भी नहीं रोका जाएगा, नाइट कर्फ्यू के दौरान व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे नागरिक अति आवश्यक होने पर नाइट कर्फ्यू के दौरान आवागमन कर सकेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने और एक जरूरी बात इस बैठक में कही है कि बढ़ते मामलों को देखते हुए फिलहाल कक्षा पहली से आठवीं तक की सभी स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे,कॉलेज भी अभी बंद रहेंगे और सिनेमाघरों के लिए पहले की गाइडलाइन जारी रहेगी यानी 50% सीटिंग कैपेसिटी की ही इजाजत होगी। प्रदेश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता के लिए या बड़ा फैसला लिया है लेकिन हमारी भी जिम्मेदारी है कि संक्रमण से प्रदेश को निजात दिलाने के लिए सावधानी बरतें