किसानों के जाग्रत होने से नाराज है केंद्र सरकार - कमलेश्वर पटेल सरकार चाहती है लोग अंधेरे में रहें, सवाल नही पूछे

किसानों के जाग्रत होने से नाराज है केंद्र सरकार - कमलेश्वर पटेल  सरकार चाहती है लोग अंधेरे में रहें, सवाल नही पूछे

केंद्र सरकार के द्वारा लाये गए कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आन्दोलन तेज़ होता जा रहा है और विपक्ष भी पूरी मुस्तैदी के साथ सरकार को घेरने में लगा हुआ है पूर्व पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि किसानों के कानून बनाते समय सरकार किसानों को अंधेरे में रखा और जब वह जाग गए तो उन्हें केंद्र सरकार कहती है कि भ्रम में है उन्होंने ने कहा की जाग्रत किसानों के सवाल पूछने से केंद्र सरकार नाराज है।हर समझदार और जागरूक नागरिक किसानों के साथ उनकी लड़ाई में शामिल है । यह सिर्फ किसानों के हक की लड़ाई नहीं है आम नागरिकों के अधिकार की भी लड़ाई है उन्होंने कहा कि किसानों के बहुत सारे सवालों के जवाब सरकार नहीं दे पा रही है और चर्चाओं के दौर को बढ़ाते जा रही है। पूर्व मंत्री ने कहा ने कहा कि किसानों का आंदोलन भारत के इतिहास में पहला ऐसा आंदोलन है जो इतने लंबे समय तक चला और सरकार फिर भी सवालों का जवाब नहीं दे पाई। पूर्व मंत्री ने केंद्र सरकार पर सवाल उठाते हुआ कहा की क्या कॉन्ट्रैक्ट खेती मे सब्सिडी मिलेगी|क्या कांट्रेक्ट के बाद किसान सम्मान निधी मिलेगी? हजारों एकड़ पर खेती करने वाले कॉरपोरेट घराने क्या मंडी मे फसल बेंच पाएंगे इन सब सवालों पर सरकार पास कोई जवाब नही है|