धूल और गंदगी के संदर्भ में शहर की जनता ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर सौपा ज्ञापन

धूल और गंदगी के संदर्भ में शहर की जनता ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर सौपा ज्ञापन

रीवा में व्याप्त धूल और गंदगी से परेशान जनता ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन ज्ञापन देते हुए बताया गया कि  हम लोगों के द्वारा पूर्व में भी प्रशासन के समक्ष रीवा में फैले हुए धूल के प्रदूषण के संदर्भ में ज्ञापन सौंपा गया था जिसमें आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई रीवा के सभी रहवासी धूल के प्रदूषण से बुरी तरीके से परेशान हैं जहां एक और प्रशासनिक अमला रीवा को स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में एक नंबर में लाने का प्रयास कर रहा है वही वही नगर निगम प्रशासन और उनके ठेकेदारों द्वारा अनियमित तरीके से विकास कार्यों को किया जा रहा है जिसका परिणाम है कि आज रीवा धूल के शहर में बदल गया है| कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंची जनता ने शासन प्रशासन से मांग की है की शहर के प्रत्येक क्षेत्रों में जल विभाग नगर निगम द्वारा पाइपलाइन और नालियों के लिए खुदाई की जाती है जहाँ महीनों तक वैसे ही मलवा पड़ा रहता है इससेजहा दुर्घटनाओं की संभावना बढ़ती है वही गंदगी और धूल भी बढ़ती है जिम्मेदारों पर सख्त कार्रवाई का प्रावधान होसीवर लाइन का काम करने वाली कंपनी जिसे एक निश्चित समय में कार्य करना था उसका कार्य 4 साल में भी पूर्ण नहीं हुआ है उसके ऊपर भी कड़ी कार्रवाई की जाए इसी तरह और भी कई मांगों को लेकर जनता ने ज्ञापन सौपा है और प्रशासन को चेतावनी भी दी है अगर इस पर दस से पंद्रह दिन के भीतर इस पर कोई कारवाही नही की जाती है तो उग्र आन्दोलन किया जायेगा जिसका जिम्मेदार शासन प्रशासन होगा|