गाँव एवं शहर में महिलाओं ने की वट सावित्री की पूजा, पति की लंबी उम्र का माँगा वरदान

गाँव एवं शहर में महिलाओं ने की वट सावित्री की पूजा, पति की लंबी उम्र का माँगा वरदान

कोरोना वायरस के खतरे के बीच भी हिंदू धर्म के मान्यताओं के अनुसार देश की नारियों के द्वारा व्रत एवं अनुष्ठान किये जा रहे हैं। आज शहर की एवं  देहात की महिलाएं जो हिंदू धर्म का अनुसरण करती हैं उन्होंने वट सावित्री की पूजा की और अपने पति के लंबी आयु के लिए कामना की|

शहर में भी वट वृक्ष के नीचे ऐसे ही अनुष्ठान देखे गए इस दौरान एक पुजारी ने जानकारी के अनुसार बताया कि व्रत को रखने से पति पर आए संकट चले जाते हैं और आयु लंबी हो जाती है यही नहीं अगर दांपत्य जीवन में कोई परेशानी चल रही हो तो वह भी इस व्रत के प्रताप से दूर हो जाते, सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और सुखद वैवाहिक जीवन की कामना करते हुए इस दिन वट यानी बरगद के पेड़ के नीचे पूजा अर्चना करते हैं। इस दिन सावित्री सत्यवान की कथा सुनने का विधान हैं मान्यता है कि इस कथा को सुनने से मनोवांछित फल की प्राप्ति भी होती है पौराणिक कथा के अनुसार सावित्री मृत्यु के देवता यमराज से अपने पति सत्यवान के प्राण वापस ले आई थी इसी लिए वट सावित्री की पूजा की जाती है|