सतना: कलेक्टर ने बिरला सीमेंट प्रबंधन को भेजा नोटिस कारण बताओ

सतना: कलेक्टर ने बिरला सीमेंट प्रबंधन को भेजा नोटिस कारण बताओ

आपको बता दें कि बिरला जूट एवं सीमेंट कंपनी प्रबंधन के नाम नगर निगम के अंदर शासकीय एवं नजूल की लगभग 500 एकड़ भूमि आवंटित की गई है. जिले सतना में बिरला जूट एंड सीमेंट मैन्युफैक्चरिंग कंपनी को वर्षों पहले आवंटित की गई 72.77 एकड़ जमीन का उपयोग नहीं करने पर कलेक्टर ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है. कलेक्टर की तरफ से जारी की गई नोटिस में कहा गया है कि प्रबंधन की तरफ से आवंटित की गई जमीन पर कोई कार्य नहीं किया जा रहा है. साथ ही आवंटित जमीन की बाउड्री करवाकर रास्ता भी बंद कर दिया गया है. इसकी वजह से क्षेत्र के लोगों को समस्याएं आ रही हैं. क्यों न प्रबंधन की 72.77 एकड़ जमीन को निरस्त कर दिया जाए? आपको बता दें कि बिरला जूट एवं सीमेंट कंपनी प्रबंधन के नाम नगर निगम के अंदर शासकीय एवं नजूल की लगभग 500 एकड़ भूमि आवंटित की गई है. इनमें 72.77 एकड़ जमीन भी शामिल थी. खास बात यह है कि इन जमीनों के बदलें में प्रबंधन की तरफ से नाममात्र का शुल्क दिया जाता है और इसका उपयोग भी मुख्य काम के लिए नहीं किया जा रहा है. कलेक्टर की तरफ से जारी आदेश के मुताबिक रघुराजनगर तहसील और नगर निगम की सीमा से लगी ग्राम पंचायतों बेला, बठिया, नैना सगमनिया, बिरहुली, पुरैनी मे लगभग 1000 हेक्टेयर निजी एवं शासकीय जमीनों मे खदान आवंटित हैं. इससे इन क्षेत्रों में नगर-निगम के पास जमीन नहीं है, जिसकी वजह से स्थानीय लोगों को सामुदायिक भवन, आंगनवाड़ी केन्द्र, पंचायत भवन, मुक्ति धाम जैसी मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं.