T20 वर्ल्ड कप का 2022 तक टलना हुआ तय, कल ICC की बैठक में हो सकता है बड़ा ऐलान

T20 वर्ल्ड कप का 2022 तक टलना हुआ तय, कल ICC की बैठक में हो सकता है  बड़ा ऐलान

ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर-नवंबर में निर्धारित टी20 वर्ल्ड कप का भविष्य लगभग तय हो चुका है. कोविड-19 महामारी के कारण आईसीसी इस टूर्नामेंट को 2022 तक टालने का मन बना चुकी है.

ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर-नवंबर में निर्धारित टी20 वर्ल्ड कप का भविष्य लगभग तय हो चुका है. कोविड-19 महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) इस टूर्नामेंट को 2022 तक टालने का मन बना चुकी है. माना जा रहा है कि मौजूदा हालात में सभी हितधारकों का ख्याल रखते हुए बोर्ड सदस्यों की 28 मई को होने वाली बैठक में इससे जुड़ी औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी.

ऐसा इसलिए, क्योंकि भारत में अक्टूबर 2021 में पहले से ही एक टी-20 विश्व कप निर्धारित है और एक वर्ष में एक ही प्रारूप के दो विश्व कपों को शेड्यूल करना अनुचित लगता है. वर्तमान बाजार परिदृश्य भी 6 महीने के भीतर दो विश्व कप के लिए तैयार नहीं है. मेजबान ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स के लिए यह चिंता का विषय है.

स्टार सूत्रों ने पुष्टि की है कि अगर भारत में अक्टूबर में आईपीएल होता है, तो ऐसे में 6 महीने में 2 आईपीएल और 2021 में 2 विश्व कप प्रसारित करना आसान नहीं होगा. मार्केट इस समय अपने निम्नतम स्तर पर है और ऐसे में वह इसके समर्थन की स्थिति में नहीं है. इसी के मद्देनजर मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप को 2022 में कराया जाएगा. यानी टूर्नामेंट को स्थगित किया जाएगा, रद्द नहीं. इसका मतलब है कि क्रिकेट का बाजार इससे बुरी तरह प्रभावित नहीं होगा, साथ ही 2022 में कोई अन्य वर्ल्ड इवेंट भी नहीं है.

भारत 2021 में एक टी-20 विश्व कप की मेजबानी करेगा. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया 2022 में टी-20 वर्ल्ड कराएगा और फिर 2023 में 50 ओवरों वाला वर्ल्ड कप भारत में खेला जाएगा. यह सोच काफी हद तक बाजार की चिंताओं से जुड़ी है और संभावना जताई जा रही है कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली 28 मई को आईसीसी की बैठक में इस योजना का समर्थन करेंगे.

ऐसे में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) कराने के आसार बढ़ गए हैं. बीसीसीआई या प्रसारणकर्ता फिलहाल कुछ नहीं कह रहे हैं और हालात पर नजर बनाए हुए हैं. बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जोहरी कह चुके हैं कि पूरे मामले में भारत सरकार हमारा मार्गदर्शन करेगी, हम सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे. व्यावहारिक रूप से क्रिकेट गतिविधियां मानसून के बाद ही शुरू हो पाएंगी.

यदि वायरस की स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं होती है, तो अक्टूबर में आईपीएल कराया जा सकता है. इससे जुड़ी औपचारिक घोषणा जुलाई में की जा सकती है. हालांकि यह पूरी तरह से भारत में वायरस की स्थिति पर निर्भर करता है. दुनियाभर के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी आईपीएल में खेलते हैं और उनकी सुरक्षा सर्वोपरि है.