बिना मास्क के विधानसभा पहुंचे विधायक, पर्यटन मंत्री ने कहा 'मैं हनुमान चालीसा का पाठ करती हूं यह मेरा कोरोना से बचाव है

बिना मास्क के विधानसभा पहुंचे विधायक, पर्यटन मंत्री ने कहा 'मैं हनुमान चालीसा का पाठ करती हूं यह मेरा कोरोना से बचाव है

भोपाल औए इंदौर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार फिर से शक्त होती दिख रही है इसी बिच विधानसभा के बजट सत्र में मंगलवार को कई विधायक और मंत्री बिना मास्क लगाए पहुंच गए

संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री ऊषा ठाकुर भी बिना मास्क के विधानसभा पहुंची थीं। जब ठाकुर को बताया गया कि मुख्यमंत्री ने कोरोना से बचाव की सावधानी बरतने की अपील की है तो उन्होंने कहा, 'मैं हनुमान चालीसा का पाठ करती हूं। प्रतिदिन शंख बजाती हूं। काढ़ा पीती हूं। गोबर के कंडे पर हवन करती हूं। इससे रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ती है। यह मेरा कोरोना से बचाव है। गमछा गले मे रखती हूं, अगर कोई पास आए तो मुंह पर रख लेती हूं।'

उन्होंने आगे कहा कि वेदों को 10 हजार साल पूरे हो रहे हैं। दुनिया में जिसे श्रेष्ठतम तरीके से जीना है, वह वैदिक जीवन पद्धति अपनाए। उसे कोई तकलीफ छू भी नहीं पाएगी। वहीं, विधायक रामबाई ने कहा, 'जिसके पास हिम्मत होती है, वही कुछ कर सकता है। मास्क नहीं लगाने पर जो जुर्माना होगा, वह मैं दे दूंगी लेकिन, मास्क नहीं लगाऊंगी। मुझे घबराहट होती है।'

आपको बता दें विधानसभा का शीतकालीन सत्र 28 से 30 दिसंबर 2020 तक बुलाया गया था, लेकिन कोरोना के चलते इसे स्थगित कर दिया गया था। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों पर कोरोना के फर्जी आंकड़े देने का आरोप लगाया था। सत्र से पहले विधानसभा विश्रामगृह के कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट कराया गया था। इसमें करीब 35 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव बताई गई थी।