SHAHDOL:  जी.एच.वी.कंपनी ने ग्रामीणों के लिए खोद दिया मौत का खदान  

SHAHDOL:  जी.एच.वी.कंपनी ने ग्रामीणों के लिए खोद दिया मौत का खदान   

शहडोल जिले के जनपद बुढार के ग्राम पंचायत चकौडिया के लोगो के लिए जी.एच.वी.कंपनी ने मौत का खदान खोद कर छोड दिया जिसमे ग्रामीणों के कई जानवरो कि दुर्घटना मे मौत हो चुकी है़| जी.एच.वी.कंपनी ने ग्रामीणों के साथ छल कर अपने कार्यो को पूरा कर निकल गया पर आज ग्रामीणों के लिए कंपनी के लिए खोदा हुआ खदान ग्रामीणों वा जानवरो के लिए मौत का कुआ साबित हो रहाहै और जिला प्रशासन व खनिज विभाग अंजान बना हुआ है|

 

जी.एच.वी.कंपनी जो शहडोल जिले के अनुपपुर सांधा चौराहे से जैतपुर होते हुए बुढार तक रोड निर्माण का कार्य किया कंपनी के द्वारा गिट्टी के लिए प्रशासन से जमीन लीज पर ली गई .और लीज की जमीन से कंपनी ने पत्थर निकाल कर खदान को छोड दिया| जो कि खदान खोलने से पहले खनिज अधिकारी वा विभाग के लोगो के द्वारा जांच की जाती है़ और कंपनी को प्रशासन के मापदंडों का पालन करने के निर्देश भी दिए जाते है़ पर जी.एच.वी.कंपनी ने प्रशासन के निर्देशो की खुल कर धज्जियाँ उड़ाई और चले गए| जी.एच.वी.कंपनी ने ग्रामीणों से कई वादे किए पर पूरा एक भी नही किया बल्कि ग्रामीणों के लिए मौत का कुआ खोद करोडो कमा कर चले गए| जी.एच.वी .कंपनी की अगर जांच कराई जाए तो कई तथ्य सामने आएंगे| कंपनी के द्वारा रास्तो मे कई जगहो से मूरूम वा पत्थर निकाल कर जगह को बिना लेवल किए ही छोड दिया गया .यहॉ तक कि कंपनी ने कई जगहो कि पुलिया निर्माण भी नही कराया और शासन से पैसे ले लिए| खनिज विभाग और जी.एच.बी.कंपनी ने करोडो का इस रोड निर्माण मे खेल खेला है| चाहे वो रेत कि हो या फिर मूरूम की| कंपनी के कर्मचारियों ने पर्यावरण को लेकर भी लाखो की होली खेल डाली| जगह जगह रोड के किनारे कंपनी को पेड़ लगाने के निर्देश दिए गए पर केवल कंपनी ने नाम के पेड़ लगाकर प्रशासन को आईना दिखा कर चले गए| अब आफत ग्रामीणों पर है़ पर स्थानिय प्रशासन बडी दुर्घटना का इंतजार करते दिख रही| मीडिया ने जब माईनिंग इंस्पेक्टर सुरेश कुलस्ते अब दिशा निर्देश की बाते कर रहे है़ और कार्यवाही की बात कर रहे है़ पर सच्चाई क्या है़ वह जांच के बाद ही पता चलेगा| शहडोल से पंकज राव की रिपोर्ट .