आर्थिक अपराध के मामले में पावर प्लांट पहुंची ईओडब्ल्यू  की टीम, अधिकारीयों में मचा हडकंप

आर्थिक अपराध के मामले में पावर प्लांट पहुंची ईओडब्ल्यू  की टीम, अधिकारीयों में मचा हडकंप

इकोनामिक ऑफेंस विंग ईओडब्ल्यू की 11 सदस्यीय टीम 2012 में दर्ज आर्थिक अपराध के मामले में जैसे ही पावर प्लांट पहुंची अधिकारियों में हड़कंप मच गया| इकोनामिक ऑफेंसेस विंग ईओडब्ल्यू  की शाखा में 2006  के आसपास इस बात की शिकायत हुई थी की संजय गांधी ताप विद्युत परियोजना पावर प्लांट के अधिकारियों और लाइजनिंग एजेंट की सांठगांठ से पावर प्लांट में उपयोग किए जा रहे हैं,कोयले की लोडिंग अनलोडिंग के लिए ऑटोमेटिक ट्रिपलर का उपयोग ना करके अलग से ठेका दिया गया साथ ही कोयले में नमी और कोयले की मात्रा जिसे की मात्र 2 से 5 पर्सेंट तक की बताया जा सकता था उसे 30 पर्सेंट बता कर के शासन को करोड़ का चूना लगाया गया है, जांच एजेंसी एएफ फर्ग्यूसन से संबंधित आंकड़े जुटाने के लिए ईओडब्ल्यू की टीम ने अधिकारियों से पूछताछ की।