मऊगंज में कंटेनर के अन्दर पाए गए 125 मजदूर, भूख से बेहाल

मऊगंज में कंटेनर के अन्दर पाए गए 125 मजदूर, भूख से बेहाल

 

लॉक डाउन में फंसे लोग अपने घर पहुंचने के लिए कितना कष्ट उठा रहे है इसकी कल्पना कर पाना भी मुश्किल है। परिस्थितियां चाहे जो हो लेकिन लोग सभी चुनौतियों से लड़कर अपने घर पहुंच रहे है। ऐसा ही एक नजारा मऊगंज में देखने को मिला है जहां कंटेनर में भरकर करीब 125 लोग यूपी जाते मिले। दरअसल ये सभी सिकंदराबाद में मजदूरी करने गए थे। लॉक डाउन में फंसे होने की वजह से वहां से ये पैदल आ रहे थे लेकिन रास्ते में इनको एक कंटेनर मिल गया। उस कंटेनर में भरकर 125 लोग बुधवार की शाम रीवा पहुंचे। मऊगंज में वे कुछ देर के लिए रुके हुए थे। जब स्थानीय लोगों ने उनसे पूंछा तो उन्होंने बताया कि तीन दिन से वे भूखे है और सिर्फ पानी पीकर जिंदा है। यह सुनते ही स्थानीय समाजसेवी अरविंद पाण्डेय ने उनको नमकीन के पैकेट और पानी पाउच वितरित किये। भूख से तड़प रहे श्रमिकों ने उनका आभार व्यक्त किया। श्रमिकों को मऊगंज से यूपी तक का सफ़र तय करना है इनको आगे कोई सुविधा मिलती है या नहीं या फिर ये मजदूर ऐसे ही पैदल अपने घर रास्ता तय करेगे|