चाकघाट में प्रवासी मजदूरों का रेला घर पहुचाने के लिए बस के बदले ट्रक हो रहा उपयोग

चाकघाट में प्रवासी मजदूरों का रेला घर पहुचाने के लिए बस के बदले ट्रक हो रहा उपयोग

लाँकडाउन के बाद अपने घरो को लौट रहे प्रवासी मजदूरो को अब बसो की जगह ट्रक का सहारा लेना पर रहाँ है| देखने वाली बात ये हैं की जहा एक ओर खाद्य सामग्री लाने के लिये ट्रको के आवागमन पर रोक लागाई गयी थी| तो वही दूसरी ओर  घर को लौट रहे प्रवासी मजदूर इन्ही ट्रको के सहारे ही घर वापसी कर रहें हैं | जिसके कारण ट्रको मे अब खाद्यान की जगह प्रवासी मजदूरो को भर कर लाया जा रहा है| जबकि ट्रक चालको को खाद्यान लादने के भाडे से ज्यादा पैसा प्रवासी मजदूरो को ले जाने मे मिल रहे है | कुछ इसी प्रकार का नराजा चाकघाट बार्डर पर भी देखने को मिल रहा हैं| जहाँ यूपी की अन्तर्राज्यीय सीमा मे प्रवेश करने वाले ट्रको मे खाद्यान की जगह प्रवासी मजदूरो से भरा हुआ देखा जा सकता है| वही चाकघाट बॉर्डर पर इन प्रवासी मजदूरों को ट्रकों  से उतार कर रोका गया है उत्तर प्रदेश राज्य सीमा से इन प्रवासी मजदूरों को  सरकारी बसों द्वारा मजदूरो के घर पहुंचाया जाएगा