सतना में प्रवासी मजदूरों का टूटा सब्र, बस उपलब्ध न होने से परेशान मजदूरो ने नेशनल हाइवे में लगाया जाम

सतना में प्रवासी मजदूरों का टूटा सब्र, बस उपलब्ध न होने से परेशान मजदूरो ने नेशनल हाइवे में लगाया जाम

सतना में भी प्रवासी मजदूरों के सब्र का बांध टूट पड़ा| बस उपलब्ध न होने से परेशान मजदूरो ने नेशनल हाइवे में जाम लगा दिया| तेज बारिश की वजह से  मजदूरो का वो सामन भी भीग गया जिसे बड़े जतन से लेकर हजारो किलोमीटर का सफर तय किया था। ऐसे में आक्रोशित कामगारों ने सड़को पर बैठ गए जिससे रास्ता जाम हो गया|  परिवहन कंट्रोल रूम के सामने जमकर हंगामा हुआ| प्रशासन समझाने की कोशिश करता रहा इसके बाबजूद प्रवासी कामगार मॉनने को तैयार नही हुए । अधिकांश मजदूर झारखंड और उत्तरप्रदेश के है ।कुछ मजदूर शहडोल और उमरिया के बताये जा रहे है| ये पिछले चार दिनों से सतना में खुले आसमान में डेरा जमाए हुए है ।इन मजदूरो का आरोप है कि  कोई वाहन नही उपलब्ध हो सका  उनका सामान भी भीग गया ,छोटे छोटे नौनिहाल भी तेज बरसात में भीग गए ।प्रशासन ने न रहने की व्यवस्था की न खाने की ,कोई वाहन व्यवस्था नही ,जिससे वो घर पहुक सके ।सैकड़ो की तादात में ये मजदूर वाहन की राह ताक रहे थे ।हालांकि मौके पर पहुची पुलिस और प्रशासम ने भी इन प्रवासी मजदूरो की मदद से हाथ खींच लिया है ।जिला प्रशासन का तर्क हैं कि जिले के मजदूरो के लिए वाहन व्यवस्था है, झारखंड और उत्तरप्रदेश के लिए नही| बॉर्डर भी सील है ऐसे में वो कुछ नही कर  सकते ।