घर जाने को मजबूर प्रवासी मजदूर

घर जाने को मजबूर प्रवासी मजदूर

लॉकडाउन 4 लोगो को राहत तो दी है पर वो मजदूर जो दूसरे राज्यो मे अपने परिवार के साथ मजदूरी करते है| किसी भी प्रकार अब अपने घर जाने को मजबूर होते दिखाई दे रहे है| मजदूर अब इस कड़ी धूप मे भी छोटे बच्चो वा घर का सामान लेकर एक राज्य से दूसरे राज्यो को निकल पड़े हैं  कुछ तस्वीरे तो ऐसे भी है कि बहुत कुछ सोचने पर मजबूर कर देती है पर कहते है कि कही इस घड़ी मे कोई तो मदद करेगा| पैदल चल रहे लोगो को देख कर ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रवासी मजदूरो कि क्या हालत है| पर प्रशासन इन मजदूरों को हर सम्भव मदद रात दिन कर रही है एक यही नजारा शहडोल जिले के बुढार मे भी देखने को मिल रह हैं |