चाकघाट में एक प्रवासी श्रमिक की हुई मृत्यु, कब तक मजदूरी का दंश झेलेंगे मजदूर

चाकघाट में एक प्रवासी श्रमिक की हुई मृत्यु, कब तक मजदूरी का दंश झेलेंगे मजदूर

उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे चाकघाट के बॉर्डर में आज पुनः प्रवासी श्रमिकों को रोका जा रहा था । चाकघाट में श्रमिकों को रोकने का मकसद यह था कि उत्तर प्रदेश रोडवेज की बस  पर्याप्त मात्रा में नहीं थी इसलिए प्रवासी श्रमिकों को चाकघाट की सीमा में उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा रोका जा रहा था। उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा बस आने पर उतने ही लोगों को उत्तर प्रदेश की सीमा में लिया जाता था जितने लोगों की बस में व्यवस्था होती थी। आज उत्तर प्रदेश की ओर जाने वाले प्रवासी श्रमिकों की भीड़ चाकघाट में कुछ ज्यादा ही थी, गर्मी के साथ साथ तेज लू का भी आज प्रभाव रहा जिसके चलते चाकघाट नगर की सीमा में 1 प्रवासी श्रमिक की मृत्यु हो गई  प्रवासी श्रमिक की उम्र लगभग 25 से 30 वर्ष के बीच है मानी जा रही है ।वह पीले रंग का टीशर्ट व जींस का पैंट व काले रंग का बैग लिए था। मृतक की अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई है ।चाकघाट थाना पुलिस ने उसके शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए त्योंथर रवाना कर दिया है ।