रीवा में तेज तूफान ने मचाई तबाही, हुआ भारी नुकसान

रीवा में तेज तूफान ने मचाई तबाही, हुआ भारी नुकसान

मध्य प्रदेश और विंध्य  कोरोना का कहर तो झेल ही रहा था कि बीते शाम आफत के रूप में तेज तूफान ने एक नई मुसीबत बन कर दस्तक दे दी|.. तबाही का मंजर कुछ ऐसा था की शहर के नेशनल हाइवे से लेकर गांव के गलियारों तक रास्तों में पेड़ गिर जाने की खबरें आने लगी। तेज तूफान ने गरीबों जे आशियाने को उजाड़ दिया| मंडियों में रखा अनाज के साथ साथ घरों में रखा गृहस्ती का समान भी नष्ट हो गया तो वही शहर में टावर के गिरने से एक बैंक मैनेजर की मौत हो गई सवाल खड़े हो रहें हैं की इस मौत का जिम्मेदार कौन हैं| इसके आलावा पूरे विंध्य और चंबल क्षेत्र में आंधी से भारी तबाही के कारण अलग-अलग जगहों में टावर, बिजली, और पेड़ के गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई|

 

बीते दिन सुबह से लेकर शाम तक का आकलन किया जाए तो मौसम के बदलाव की दूर दूर तक कोई संभावना नहीं थी लेकिन शाम 5 बजे के बाद मौसम ने यू-टर्न लिया कि तेज गति से  आए तूफान ने तबाही मचा दी| तबाही का मंजर कुछ ऐसा था कि चारों ओर टॉवर बिजली और पेड़ गिर गए और तेज तूफान ने गरीबों के आशियाने को उजाड़ दिया धीरे धीरे अंधेरा छाने लगा आंधी की वजह से शहर से लेकर गांवो में बिजली गुल होने से अंधेरा छा गया हाईटेंशन पोल सहित बिजली के कई पोल गिरने से बिजली रात भर गुल रही।  इसके साथ-साथ तूफान ने तबाही के कई निशान छोड़ दिए शहर से लेकर गांव तक भारी नुकसान की सूचना मिलने लगी शहर के शिल्पी प्लाजा के पास एक टावर  तूफान से धराशाई हो गया जिसकी चपेट में आने से मौके पर ही एक बैंक मैनेजर की मौत हो गई अब सवाल यह है की बैंक मैनेजर के मौत का जिम्मेदार कौन हैं बैंक मैनेजर की मौत भले ही तूफान से हुई हैं लेकिन शहर में लगे काफी पुराने अवैध होर्डिंग एवं टावर भी जिनपर समय रहते कोई कार्यवाही नहीं होती वो भी जिम्मेदार हैं| अब देखना होगा इस पुरे मसले पर आगे क्या कार्यवाही होती है| हालाँकि इस तुफान में बिजली के खंभे होल्डिंग टीन टप्पर सभी धराशाई हो गए जिससे सड़कों में आवागमन घंटों तक बाधित रहा| गांवों में भी आसमान से बिजली गिरने लगी जिससे भारी क्षति पहुंची| आंधी का झोंका इतना तेज था कि मऊगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत एक माकन के  छत से 2 बच्चे उड़ गए जिन्हें गंभीर रूप में इलाज के लिए संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है तो वही बारिश और तेज तूफान के चलते घर की दीवार गिरने से एक बच्ची बुरी तरह घायल हो गई इसका इलाज भी रीवा के संजय गांधी में हो रहा है तूफान के बाद मूसलाधार बारिश होने लगी जिसकी वजह से खरीदी केंद्रों पर रखा हुआ लाखों क्विंटल गेहूं भी भीग गया मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि तूफान 65 से 75 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से था जिसने चारों ओर तबाही मचा दी|

बीते दिन आए तूफान ने हर किसी को नुकसान पहुंचाया| रात भर बिजली आपूर्ति ठप रही रास्तों में पेड़ के गिर जाने से आवागमन बाधित रहा तो वहीं भारी जान-माल का नुकसान भी हुआ रीवा में टावर के गिरने से एक शख्स की मौत हो गई शहर अभी भी अवैध होर्डिंग एवं टावर से भरा पडा हैं  अब देखना होगा कि आगे इस तबाही से निपटने के लिए एवं उसकी भरपाई  के लिए शासन और प्रशासन क्या कदम उठाता है|