हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी बीमार हुए भगवान

 हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी बीमार हुए भगवान

रीवा लक्ष्मण बाग स्थित भगवान जगन्नाथ मंदिर के प्राचीन परम्पराओं के अनुसार  आज ही के दिन से भगवान जगन्नाथ के कपाट बंद हो जाएंगे| जेष्ठ पूर्णिमा के दिन भगवान जगन्नाथ को महा स्नान कराया जाता है| यह मान्यता है कि मार्च माह के बाद भगवान बीमार हो जाते हैं जिन्हें स्वस्थ करने के लिए वैद्य द्वारा दवाइयां दी जाती  है| जड़ी बूटियों के रूप में भगवान का इलाज भी किया जाता है| यही नहीं बीमारी के समय भोग के रूप में सावधानी बरतते हुए खीर और खिचडी दी जाती हैं| प्राचीन काल से चली आ रही मान्यता आज भी परंपरागत रूप से लक्ष्मण बाग मंदिर में निभाई जाती है| आज सुबह से ही लक्ष्मण बाग मंदिर के पुजारियों द्वारा भगवान जगन्नाथ को महास्नान कराया गया| आज के बाद भगवान जगन्नाथ के मंदिर के पट बंद कर दिए जाएंगे| असार तिथि के दिन भगवान स्वस्थ होंगे जो| इसके बाद भगवान की शोभायात्रा हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी धूमधाम के साथ निकाली जाएगी|